class 10th hindi lession1 श्रम विभाजन और जाती प्रथा Objective and objective queaction 2022 sharm vibhajanaur jati pratha

       1.श्रम विभाजन और जाती प्रथा[                                [लेखक परिचय】

डॉ भीमराव अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 ई में महू मध्यप्रदेश में हुआ था प्राथमिक शिक्षा के उपरांत उच्चतर शिक्षा हेतु वे न्यूयॉर्क (अमेरिका) गए तदुपरांत लंदन इग्लैण्ड जानकर अध्ययन किये वे अपने समय के सुबठित थे जनों में एक थे बुद्ध कवीर और ज्योतिबा फुले से प्रेरित बाबा साहेब अछूतों महिलाओं और मजदूरों को मानविय अधिकार व सम्मामन दिलाने के लिए अजिबन संघर्ष रहे भारत के के संबिधान निर्माण में उनकी महती भूमिका और एकनिस्ट समपर्ण के कारण ही हम आज उन्हें भारतीय संबिधान का निर्माता कहकर क्षरदली अप्रतित करते है उनकी बहुमुखी विद्वता एकांत ज्ञान साधना की जगह मानव मुक्ति जनकल्याण के लिए थी दिसम्बर 1956 ई में दिल्ली में बाबा साहेब का निधन हो गया

 

1.श्रम विभाजन और जाती प्रथा के लेखक कौन है ?
(A)महात्मा गांधी               (B)जवाहरलाल नेहरू
(C)राम मनोहर लोहिया      (D)भीमराव अंबेडकर
  Answers 👉 D
2.भारतीय संभिधान के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका किसकी है ?
(A)भीमराव अम्वेडकर              (B)ज्योतिबा फूले
(C)राजगोपालाचारी                  (D)महात्मा गांधी
Answers 👉 A

3.सभ्य समाज की आवयश्यक्ता क्या है ?
(A)जाती प्रथा                (B)श्रम विभाजन
(C)अणू बम                  (D)दूध पानी
Answers 👉 B

4.निम्नलिखित रचनाओं में से कौन-सी रचना डॉ० अंबेडकर की है ?
(A)द क्क़स्ट्स इन इंडिया      (B) द अंचटेबल्स यू आर दे
(C)हू आर शुद्राज                (D)इनमें से सभी
Answers 👉D

5.भीमराव अंबेडकर के चिंतन तथा रचनात्मकता के इनमें से कौन प्रेरक व्यक्ति माने जाते है ?
(A)महात्मा बुद्ध                 (B)कबीर दास
(C)ज्योतिबा फूले               (D)सभी
Answers 👉D

6.जाती प्रथा का प्रमुख दोष क्या  है?
(A)इसमें व्यक्ति न् चाहते हुए भी पेशे से जुड़ जाता है                   (B)वह पेशा कर नहीं पता
(C)पेशा उसपर हावी रहता है         (D)सभी गलत है
Answers 👉A
7.भीमराव का जन्म कब हुआ था ?
(A)14 जून 1891 में                 (B)24 जून 1891 में
(C)14 अप्रैल 1891 में              (D) 14 जनवरी 1891
Answers. C
8.बाबा साहेब अम्वेडकर सम्पूर्ण बड़नमय कितने खंडों ने प्रकाशित की गई ?
(A) 1                 (B) 10
(C) 21              (D) 11
Answers 👉 C

9.अम्बेडकर का जन्म कहाँ हुआ था ?
(A)मध्य प्रदेश के महू में                   (B)उतर प्रदेश के बलिया में
(C)मध्य प्रदेश के सतना में               (D) पंजाब के लुधियाना में
Answers 👉A

10.हिन्दू धर्म एवं भारतीय समाज की कुरीतियों और विसंगतियों पर निम्नलिखित में किसने प्रहार किया है?
(A)राम ने                   (B)सुदामा ने

(C)श्रीकृष्ण ने             (D)भीमराव अम्बेदकर ने

Answers 👉D


11.भारत में बेरोजगार का एक प्रमुख व अप्रत्यक्ष कारण क्या है ?
(A)सती प्रथा                   (B)दहेज प्रथा

(C)जाती प्रथा                  (D)बाल विवाह प्रथा

Answers 👉C


12.श्रम विभाजन और जाति प्रथा पाठ बाबा साहेब के किस भाषण का संपादित अंश है ?
(A)द कास्ट्स इन इंडिया देयर मैकेनिज्म                   (B)जेंसिस एंड डेवलपमेंट
(C)एनिहिलेशन ऑफ कास्ट               (D)हु आर शुद्राज
Answers 👉 C
प्रशन 1.लेखक किस विंडबना की बात करते हैं ? विंडबना का स्वरूप क्या है 

उतर- लेखक बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर जी विंडबना की बात करते हुए कहते हैं कि इस युग मे भी जातिवाद के पोषकों की कमी नही है। जिसका स्वरूप है कि जातिप्रथा श्रम विभाजन के साथ साथ श्रमिक विभाजन का रूप ले रखा है जो अस्वाभाविक है ।


प्रश्न 2. जातिवाद के पोषक उसके पक्ष में क्या तर्क देते हैं ?
उतर- जातिवाद के पोषकों का तर्क है कि आधुनिक सभ्य समाज कार्य कुशलता के लिए श्रम विभाजन के आवश्यक मानता है और जाति प्रथा श्रम विभाजन का ही दूसरा रूप है, इसमें कोई बुराई नहीं।

प्रश्न 3. जातिवाद के पक्ष में दिए गए तर्को पर लेखक की प्रमुख आपत्तियों क्या है ?

उतर- जातिवाद के पक्ष में दिए गए तर्को पर लेखक आपतियाँ इस प्रकार है कि जाति प्रथा श्रम विभाजन के साथ-साथ श्रमिक विभाजन का भी रूप ले लिया है। किसी भी सभ्य समाज मे श्रम विभाजन व्यवस्था श्रमिकों के विभिन्न वर्गों में अस्वाभाविक विभाजन नहीं करता है।


प्रश्न4. जाती भारतीय समाज में श्रम विभाजन का स्वाभाविक रूप क्यों नहीं कही जा सकती ?
उतर- भारतीय समाज में जातिवाद के आधार पर श्रम विभाजन अस्वभविक है क्योंकि जातिगत श्रम विभाजन श्रमिकों की रुचि अथवा कार्य-कुशलता के आधार पर नहीं होता बल्कि माता के गर्भ में ही श्रम विभाजन कर दिया जाता है जो विवशता अकुशलता और अरुचिपूर्ण होने के कारण गरीबी और अकर्मण्यता को बढ़ाने वाला है।

प्रश्न 5.लेखक आज के उधोगों में गरीबी और उत्पीड़न से भी बड़ी समस्या किसे मानते हैं और क्यों?
उतर- लेखक बाबा साहेब जी आज के उधोगों में गरीबी और उत्पीड़न से भी बड़ी समस्या यह मानते हैं कि बहुत से लोग निर्धारित कार्य को अरुचि के साथ केवल विवशतावश करते हैं। क्योंकी ऐसी अस्थिति स्वभावतः मनुष्य को दुर्भावना से ग्रस्त रहकर टालू काम करने और कम काम करने के लिए प्रेरित करती है। ऐसी स्थिति में जहां काम करने वालें का न दिल लागता हो न दिमाग, कोई कुशलता कैसे प्राप्त की जा सकती है।

प्रश्न 6. लेखक ने पाठ में किन प्रमुख पहलुओं से जाती प्रथा को एक हानिकारक प्रथा के रूप में दिखया है ?
उतर- लेखक ने विविध पहलुओं से जाती प्रथा को एक हानिकारक प्रथा के रूप में दिखाया है जो निम्नलिखित हैं-अस्वभविक श्रम विभाजन, बढ़ती बेरोजगारी, अरुचि और विवशता में श्रम का चुनाव, गतिशील एवं आदर्श समाज का तथा वास्तविक लोकतंत्र का स्वरूप आदि।

प्रश्न 7. संविधान सभा के सदस्य कौन-कौन थे? अपने शिक्षक से मालूम करें।
उतर- संविधान सभा के सदस्यों में बाबा साहेब भीमराव अंबेदकर, जवाहरलाल, सरदार वल्लभ भाई पटेल, डॉ० राजेन्द्र प्रसाद, अबुल कलाम आजाद, चक्रवर्ती राज गोपालाचारी, श्याम प्र० मुखर्जी, सरोजनी नायडू, पंडित विजयलक्ष्मी, हंस मेहता आदि थे।
NSP SCHOLARSHIP APPLY. Click here

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top