बिहार में शराबबंदी कानून की लेकर नीतीश सरकार ने की बड़ी फैसला क्या शराब द्वारा से बिहार में चालू होगा जाने पूरी जानकारी विपक्षी ने किया जमकर पलटवार

बिहार में शराब बंदी कानून

बिहार में शराबबंदी  फैसला क्या शराब द्वारा से बिहार में चालू होगा जाने पूरी जानकारी विपक्षी ने किया जमकर पलटवार।

बिहार में बीते 6 वर्षों में शराबबंदी कानून लागू किया गया है शराबबंदी पूर्ण रूप से नीतीश सरकार के द्वारा सफलतापूर्वक बंद नहीं हुआ जिसके लेकर नीतीश कुमार के द्वारा लगातार शराबबंदी कानूनों में बदलाव किया जाता है फिर से शराब बंदी कानून में बदलाव देखने को मिला है।बिहार में 2016 में शराब बंदी लागू किया गया था इसके अलावा शराबबंदी इस संख्या कोई खास कमी नहीं आई है।दूसरे दिन उत्पाद विभाग के द्वारा किसी ने किसी इलाके में शराब खेद बरामद की जाती है। इसके लेकर नीतीश कुमार लगातार शराबबंदी कानूनों में संशोधन और शराब पीने वाले को शराबबंदी कानूनों में संशोधन किया जाता है सुबह में एक बार फिर से शराबबंदी कानून को लेकर समीक्षा बैठक की गई है। जिसमें यह फैसला लिया गया है कि शराब पीने वाले से ज्यादा शराब बेचने वाले और लगाने वाले पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।वही बंदी किस इस समीक्षा बैठक के बाद राजनीतिक आरोप और प्रतिरूप शुरू हो गया है क्या दोबारा से बिहार में शराबबंदी कानून को हटाया जाएगा और शराब दोबारा से चालू किया जाएगा पूरी जानकारी इस आर्टिकल में दिया गया है इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

 

इसे जरुर पढ़े। अगर आप भी घर बैठे लाखों रुपया कमाना चाहता है इस पोस्ट ध्यानपूर्वक पढ़ें 

बीजेपी ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना

शराबबंदी की समीक्षा बैठक पर बीजेपी प्रवक्ता अरविंद सिंह का कहना है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के दबाव में काम कर रहे हैं उन्हें आगे कहा कि नीतीश कुमार सीएम है लेकिन असली सीएम तेजस्वी यादव ही है वही तेजस्वी यादव कहा कि राज्य में सरकारी कर्मियों का वेतन देने तक के पैसा नहीं है।
उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार सीएम है लेकिन असली सीन तेजस्वी यादव है और वही तेजस्वी यादव कहा कि राज्य के राजस्व बेहद कम है सरकारी कर्मियों का वेतन देने तक पैसा नहीं है यह के कारण शराबबंदी को अब कमजोर दिया जा रहा है और विन सिंह का आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शराबबंदी कानून का मजाक उड़ाया है क्योंकि लगातार के द्वारा।

कीर्तन कृष्ण ने किया पलटवार

आरोही के जवाब देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता सुकून तुला कृष्णा ने कहा कि बिहार का विकास के लिए जागरूक होगी और एक बार एक बार समीक्षा होगी
बीजेपी के आरोप का जवाब देते हो कांग्रेस के प्रवक्ता कुंतल कृष्णा ने कहा कि बिहार का विकास के लिए जागरूकता होता तो एक समीक्षा होगी बिहार के विकास के लिए जो भी उचित कदम उठाएगा महा गठबंधन सरकार उठाई जाएगी ओला में बंद हुई थी शराब

2016 में हुई थी शराबबंदी।

वहीं, शराबबंदी पर बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि महागठबंधन की सरकार ने साल 2016 में शराबबंदी का कानून लागू किया था. जिसके बाद में बीजेपी सत्ता में आई तो शराबबंदी को खत्म करने के लिए तरह-तरह के  करने लगी अब सत्ता से बाहर है तो एक बार फिर से बीजेपी शराबबंदी को लेकर राजनीति कर रही है.।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top Join Group